रविवार, 3 अप्रैल 2011

जादूई कप



ये वही है जिसके लिए कल पूरा हिन्दुस्तान सड़कों पर इस एहसास के साथ नाच रहा था कि हम सब एक है और दुनिया में सबसे ताकतवर भी। ये जादुई चीज़ है और इसका एहसास हर हिन्दुस्तानी को है। शुरूआत में जब शो के दौरान इसे हाथ में लेने का मौका मिला था तभी दिल से दुआ निकली थी की ये यही रह जाए और दुआ कबूल हुई आप सबको ये हसीन लम्हा और बेइंतहा खुशी मुबारक.. कल कनॉट प्लेस, आईटीओ, इंडिया गेट और तमाम जगह जबरदस्त जाम था क्योंकि कोई घर जाना ही नही चाह रहा था देश का हर कोना अपना घर और हर शख्स अपना भाई दिख रहा था। ईश्वर ऐसे लम्हे बार-बार दिखाए।

2 टिप्‍पणियां:

प्रवीण चन्द्र रॉय Pcr ने कहा…

ये जमीं गा रही हैं आसमाँ गा रहा हैं.........

pratham ने कहा…

bahut khobsurat ahsaas sir ji